Book Review: ​Uday Ek Nae Yug Ka by Vivek Tariyal
5.0Stars
Reader Rating: (0 Votes)

Blurb:

“उदय – एक नए युग का” एक कविता संकलन है जिसमें जीवन के विभिन्न पहलुओं, देश प्रेम एवं सामाजिक मुद्दों पर कविताएँ लिखी गई हैं। कविताएँ भावनाओं की सरल, सहज एवं प्रभावशाली अभिव्यक्ति होती हैं। यह न केवल पाठक मन को मंत्रमुग्ध कर देती हैं अपितु पाठक को वांछित कर्म करते हेतु उत्साहित भी करती हैं। प्रस्तुत काव्य संकलन की कविताओं के माध्यम से कवि लोगों के भीतर सोई पड़ी चेतना का आवाह्न करता है। इस काव्य संकलन की कविताएँ जहाँ एक ओर पाठक को प्रेरणा से भर देती हैं वही दूसरी ओर अनकहे सामाजिक मुद्दों के प्रति पाठक की अंतरात्मा को झकझोरती हैं। प्रस्तुत कविताएँ युवा वर्ग को देश के प्रति सजग एवं कर्मशील बनने हेतु प्रेरित करती हैं एवं उसके साथ ही मानव जीवन के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डालते हुए पाठक मन की भावनाओं को छूने का प्रयास करती हैं। कवि का विश्वास है कि कहीं न कहीं पाठक स्वयं को इन कविताओं से जुड़ा हुआ पाएगा। प्रस्तुत कविताएँ मात्र कवि मन की अभिव्यक्ति नहीं हैं अपितु समाज में बदलाव लाने हेतु एक प्रयास हैं। कविताओं में प्रयुक्त एक-एक शब्द समाज के बदलाव एवं मानव सभ्यता के पुनुरुत्थान को समर्पित है। 

Review:​

This is a brilliant poetry and probably something I have read Hindi poems only during my school days!

 The experience you get once you read an inspirational poem is something astonishing! This book talks about Mothers Love , Feminism, Army’s Sacrifices etc. I may not do complete justice reviewing this book since I don’t have a firm understanding of Hindi Vocabulary .I must admit that I enjoyed the book just like I enjoy Hindi Shayari’s and author did a fantastic job to connect directly to my heart.
The poet has done a fair job of expressing the motive behind each poem as it helps understand the poem better. The accompanying wonderful pencil art brings visualization to these poems. I loved the way the whole poem was written – giving me a good feeling.

Highly recommended for someone who loves Hindi poetry – or a beginner to Hindi poetry as this gives you the context of the poem as well.Would like to see Vivek Tariyal writing some good lyrics for some famous Hindi movie in the future. Thanks Vivek for sending the book , it was a pleasure reading.

Prakhyath Rai
Reach me!

Prakhyath Rai

Admin at MerryBrains
Friends call me Prakz. I am a blogger, avid reader and bathroom singer. I take all my life decisions at showers like everyone else.
Prakhyath Rai
Reach me!

Leave a Reply